Home > Head Quarters > SHIKSHA SAMVAD at University of Rajasthan

SHIKSHA SAMVAD at University of Rajasthan

Resource Persons –
Dr. Sweta Gupta, Department of Education, University of Rajasthan

Dr. A.V.S. Madnawat, Department of Psychology, University of Rajasthan

Important Points –

Education policy is a new style of discrimination not value based education.
In rural area 90% of the students studied in govt. schools but now only 30-35% students at govt. school.
Education should develop skill in students and provide service and idea for society.

Students spend their energy for jobs and exams till 30-35 years.

Let UGC, AICTE, NCTE, ICSSR and all such APEX body of higher education prepare in national level agenda in construction with experts scientist.
There has to be some incentives for those who are actively involved in research.

jp 3 jp jp 2

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

स्टूडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाइजेशन ऑफ़ इंडिया (एस आई ओ) राजस्थान प्रदेश की और से आज 01 अक्टूबर को शिक्षाविभाग, राजस्थान विश्वविधालय के सभागार में “शिक्षा संवाद” आयोजित किया गया । एस आई ओ ऑफ़ इंडिया की और से देश के 20 शहरों में देश की नई शिक्षा नीति पर छात्रों के मध्य संवाद के लिए “शिक्षा संवाद” का आयोजन किया जा रहा है । शिक्षा संवाद में मुख्य अतिथि के रूप में शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष और एन सी आर टी के सदस्य प्रोफेसर ए वी एस मदनावत और एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर स्वेता गुप्ता सम्मिलित थे । कार्यक्रम में संगठन के राष्ट्रीय सचिव तौसीफ अहमद मडिकेरी, प्रदेश अध्यक्ष शाहिद खान, प्रदेश सचिव अब्दुल जब्बार आदि उपस्थित थे ।

55

कार्यक्रम में उपस्थित छात्रों ने प्रोफेसर ए वी एस मदनावत और एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर स्वेता गुप्ता के साथ नयी शिक्षा नीति पर संवाद किया और साथ ही अपने सुझाव भी रखे । इन सभी सुझावों को संकलित कर मानव संसाधन मंत्रालय को भेजे जायेंगे ।

Check Also

NP_talk_Badaun

SIO President demands apology from BJP leader Tarun Vijay over his rhetoric tweets related to Islamic dress ‘Hijab’

Mr. Tarun Vijay, a BJP leader who were recently criticised over his ‘Black’ remark to …